Home Entertainment टी वी की स्त्रियां

टी वी की स्त्रियां

by Dr Shambhu Kumar Singh

टी वी सीरियल के पति पत्नी !

मैंने फ़िल्म एंड टी वी इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया से टी वी रिसर्च में पढ़ाई की । टी वी के कार्यक्रमों के निर्माण एवं प्रसारण की एक समझ भी मुझमें विकसित हुई ! पर जब भी मैं भारतीय टी वी कार्यक्रम या कोई सीरियल देखता हूँ मुझे मेरी समझ पर तरस आता है। सोचता हूँ ,मैं ही समझ नहीं रहा या इन सीरियल्स को बनाने वाले ही नासमझ हैं ?
जितने भी सीरियल हैं उनमें किसी की भी एक शादी नहीं है। उनकी कई कई शादियां होती हैं। पता नहीं किस देश की यह परंपरा है पर टी वी पर यह खूब हो रही है। किसी सीरियल में एक पति है पर उसकी दो दो पत्नियां हैं। कुछ के तो इससे भी ज्यादा ! एक ही व्यक्ति से बार बार शादी हो रही है। एक पति के लिए कई पत्नियों या स्त्रियों में मारकाट मची हुई है। कोई भी उस पति को छोड़ने को तैयार नहीं। एक हमलोग हैं कि अपनी ओरिजिनल एकमात्र पत्नी भी कोई भाव नहीं दे रही! अन्य पत्नियों की कल्पना करना ही बेकार है। पता नहीं सिरियली पति क्या पुण्य कर के आते हैं ? और हमलोगों से कहाँ चूक हो गयी ?
भारतीय टी वी की पत्नियां दादी नानी भी हो जाएं तब भी बूढ़ी नहीं होतीं। एकदम जवान। बाल तक सफेद नहीं होते। कोकिला बेन तो इतना चिल्लाती है कि उसे जो देखे सुने,वह बेहोश हो जाये! कुछ स्त्रियां तो देखने में आई हैं कि बड़े बड़े सुपारी किलर से मिली हुई हैं ! पलक झपकते ऐसे अपराधकर्मियो से ये औरतें संबंध साध लेती हैं। क्या ऐसा ही हमारा समाज है?
टी वी की स्त्रियां क्रूर ,अविवेकी और अज्ञानी सी हैं। वो अपने दुश्मनों को मारने की जुगत में हमेशा लगी रहती हैं! बिग बॉस हो कोई भी अन्य सीरियल स्त्रियों को बेहद कुटिल चित्रित करते हैं और सबसे भयानक रूप में उनका प्रदर्शन भी! दूरदर्शन पहले अच्छे सीरियल्स बनाये जो बहुत ही लोकप्रिय हुई । इस गरीब देश की औरतों की समृद्धि देख हमें विस्मय होता है। ये सोती भी हैं तो लिपिस्टिक लगा कर और हर वक्त गहनों से लदी भी रहती हैं।
हमलोग तो समझ ही रहे हैं कि ये टी वी सीरियल क्या सच झूठ दिखला रहे हैं पर इसी को कोई विदेशी देखे तो वे हमलोगों के बारे में क्या सोचते होंगे? दुखद है!
😢😢

©डॉ. शंभु कुमार सिंह
7 जनवरी ,2021,पटना
www.voiceforchange.in

Related Articles

Leave a Comment